अगर कोई व्यक्ति आर्थिक परेशानियों से गुजर रहा है, तो इसे हर शनिवार के दिन किसी शनि मंदिर में जाकर सरसों के तेल का दीपक जलाना चाहिए।

ऐसा करने पर उसे फायदा मिल सकता है। अगर आप शनिवार को सरसों के तेल के दीपक में लौंग डालकर जलाते हैं

 शनि के कष्टों से राहत मिलती है: शनि देव के कष्टों में आर्थिक परेशानियां, शारीरिक कष्ट, पारिवारिक कलह, आदि शामिल हैं। सरसों के तेल का दीपक जलाने से इन कष्टों से राहत मिलती है।

बाधाएं दूर होती हैं: सरसों के तेल का दीपक जलाने से जीवन में आने वाली सभी बाधाएं दूर होती हैं।

तरक्की, सफलता, धन आने के रास्ते खुलते हैं: सरसों के तेल का दीपक जलाने से व्यक्ति के जीवन में तरक्की, सफलता और धन आने के रास्ते खुलते हैं।

नकारात्मक ऊर्जा का नाश होता है: सरसों के तेल का दीपक जलाने से घर, ऑफिस, या अन्य किसी स्थान से नकारात्मक ऊर्जा का नाश होता है।

वातावरण शुद्ध होता है: सरसों के तेल का दीपक जलाने से वातावरण शुद्ध होता है और सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है।

मानसिक शांति मिलती है: सरसों के तेल का दीपक जलाने से मानसिक शांति मिलती है और मन शांत होता है।

 घर में सुख-शांति बनी रहती है: सरसों के तेल का दीपक जलाने से घर में सुख-शांति बनी रहती है और परिवार के सदस्यों के बीच प्रेम और सहयोग बढ़ता है।

 ऊर्जा का संचार होता है: सरसों के तेल का दीपक जलाने से ऊर्जा का संचार होता है और व्यक्ति में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है।

Fill in some text

Fill in some text

 देवताओं का आशीर्वाद प्राप्त होता है: सरसों के तेल का दीपक जलाने से देवताओं का आशीर्वाद प्राप्त होता है।

सरसों के तेल का दीपक किसी भी दिन जलाया जा सकता है। लेकिन, विशेष रूप से दीपावली, गुरुवार, शनिवार, और अमावस्या के दिन सरसों के तेल का दीपक जलाने का विशेष महत्व होता है।

पश्मीना शॉल के लिए कौन सा शहर प्रसिद्ध है? आप पश्मीना कैसे धोते हैं