लोटस टेम्पल भारत की राजधानी दिल्ली में स्थित एक बहाई पूजा स्थल है।

मंदिर का डिज़ाइन ईरानी मूल के फ़ारसी वास्तुकार फ़रीबर्ज़ साहबा ने किया था।

यह मंदिर अपनी कमल के फूल जैसी आकृति के लिए प्रसिद्ध है।

मंदिर का निर्माण 27 सफेद संगमरमर की पंखुड़ियों से किया गया है, जो एक घेरे में व्यवस्थित हैं।

मंदिर के मध्य में एक विशाल हॉल है, जिसमें2,500 लोग बैठ सकते हैं

लोटस टेम्पल को दुनिया की सात सबसे आश्चर्यजनक इमारतों में से एक माना जाता है।

लोटस टेम्पल को2007 में यूनेस्को द्वारा विश्व धरोहर स्थल घोषित किया गया था।

लोटस टेम्पल का निर्माण लगभग10 मिलियन डॉलर की लागत से किया गया था।

मंदिर के चारों ओर एक बगीचा है, जिसमें कई प्रकार के पौधे और फूल लगे हुए हैं।

इस क्रिसमस पर अभिनेत्रियों से अपनी सफेद पोशाक की प्रेरणा लें