रणवीर सिंह का विवादित      फोटोशूट: क्या यह कला है या अश्लीलता?

न्यूड यूनिवर्सल के लिए रणवीर सिंह का पेपर पिछले साल जुलाई में रिलीज हुआ था। इस एंटरप्राइज ने भारत में काफी विवाद खड़ा कर दिया था।

आज एक साल बाद भी रणवीर सिंह के नाम पर बहस जारी है। कुछ लोग अभी भी इस पर अश्लीलता का आरोप लगाते हैं,

जबकि कुछ लोगों का मानना है कि यह एक साहसिक और रोमांचक प्रयास है।

जो लोग रणवीर सिंह के काव्य को कला में मानते हैं, उनकी तर्क है कि यह एक शक्तिशाली और ऐतिहासिक अभिव्यक्ति है।

वे यह भी कहते हैं कि यह रूढ़िवादी विचारधारा को चुनौती देता है।

वे यह भी कहते हैं कि यह रूढ़िवादी विचारधारा को चुनौती देता है।

जो लोग रणवीर सिंह के नापसंद पर अभद्रता करते हैं, उनकी दलील है कि ये एक साधारण रूप से उचक है।

वे यह भी कहते हैं कि यह बॉलीवुड में नैतिक गिरावट का संकेत है। उनका कहना है कि यह दर्शकों को अश्लीलता की ओर आकर्षित करने का एक प्रयास है।

वे यह भी कहते हैं कि यह रूढ़िवादी विचारधारा को चुनौती देता है। वे कहते हैं कि यह लोग अपने शरीर को अधिक लाभ और सहजता का अनुभव कराने के लिए प्रेरित करते हैं।

जो लोग रणवीर सिंह की शैली को कला का एक रूप मानते हैं, उनकी दलील है कि यह एक शक्तिशाली और अभिव्यक्तिपूर्ण है।

वे कहते हैं कि यह शरीर की प्राकृतिक और प्राकृतिकता को महिमामंडित करता है।

रूढ़िवादी विचारधारा को चुनौती देता है।

करवा चौथ व्रत की तिथि क्या है?और क्यों मनाते हैं