नाभि में तेल लगाने से कई तरह के लाभ हो सकते हैं, जिनमें से एक सुंदरता में वृद्धि भी शामिल है। नाभि में तेल लगाने से त्वचा को मॉइस्चराइज़ किया जा सकता है

जिससे यह चमकदार और निखरी हुई दिख सकती है। इसके अलावा, नाभि में तेल लगाने से त्वचा को पोषण मिल सकता है, जिससे यह स्वस्थ और सुंदर दिख सकती है।

नाभि में सुंदरता बढ़ाने के लिए लगाए जा सकने वाले कुछ तेलों में शामिल हैं  हमेशा सबसे अच्छा होता है।

नारियल तेल: नारियल तेल एक प्राकृतिक मॉइस्चराइज़र है जो त्वचा को हाइड्रेटेड और कोमल रख सकता है। इसके अलावा, नारियल तेल में एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं

जो त्वचा को मुक्त कणों से होने वाले नुकसान से बचा सकते हैं। 

बादाम तेल: बादाम तेल एक और अच्छा मॉइस्चराइज़र है जो त्वचा को पोषण भी प्रदान कर सकता है। बादाम तेल में विटामिन ई और अन्य पोषक तत्व होते हैं

जो त्वचा को स्वस्थ और चमकदार दिखने में मदद कर सकते हैं।

पेट की दिक्कतों से निजात पाने के लिए, वजन कम करने के लिए और कमर के दर्द में आराम पाने के लिए ऑलिव ऑयल (Olive Oil) का इस्तेमाल करें

ऑलिव ऑयल की 3 बूंदे ही नाभि में डालने के लिए पर्याप्त होंगी

जोजोबा तेल: जोजोबा तेल एक प्राकृतिक तेल है जो त्वचा के प्राकृतिक तेलों के समान होता है। यह त्वचा को मॉइस्चराइज़ करने में मदद कर सकता है

त्वचा की जलन और सूजन को कम करने में मदद कर सकता है।

अरंडी का तेल: अरंडी का तेल एक अच्छा मॉइस्चराइज़र और एंटी-इंफ्लेमेटरी एजेंट है। यह त्वचा को मॉइस्चराइज़ करने में मदद कर सकता है

नाभि में तेल लगाने के लिए, एक सूखी और साफ नाभि में 1-2 बूंद तेल लगाएं। फिर, अपनी उंगलियों से तेल को नाभि में अच्छी तरह से रगड़ लें। आप रात में सोने से पहले नाभि में तेल लगाने के लिए इसका उपयोग कर सकते हैं।

नाभि में तेल लगाने से पहले किसी भी संभावित एलर्जी प्रतिक्रियाओं से बचने के लिए एक पैच टेस्ट करना हमेशा सबसे अच्छा होता है। एक पैच टेस्ट करने के लिए

अपनी कोहनी के आंतरिक हिस्से पर एक छोटी सी मात्रा में तेल लगाएं और 24 घंटे तक प्रतीक्षा करें। यदि उस क्षेत्र में कोई लालिमा, खुजली या सूजन नहीं होती है, तो आप नाभि में तेल लगाने के लिए सुरक्षित हैं।

पढ़ाई में कमजोर बच्चों के लिए क्या करना चाहिए? ध्यान से जाने