विराट कोहली के दोहरे शतक:- रिकॉर्ड और रहस्यमयी तथ्य

विराट कोहली के दिग्गज बल्लेबाज: रिकॉर्ड और रहस्यमयी तथ्य

विराट कोहली के दोहरे शतक: रिकॉर्ड और रहस्यमयी तथ्य
विराट कोहली के दोहरे शतक: रिकॉर्ड और रहस्यमयी तथ्य

क्रिकेट के इतिहास में विराट कोहली को सबसे महान बैंक में से एक माना जाता है। उन्होंने अपने करियर में कई तरह के रिकॉर्ड तोड़े हैं, जिनमें टेस्ट क्रिकेट में बोल्ट बनाने का रिकॉर्ड भी शामिल है।

विश्व कप पहला सेमीफाइनल 2023: रोहित शर्मा बोलते हैं

विराट कोहली: एक नजर में उनका निजी और क्रिकेट प्रसंग

विराट कोहली व्यक्तिगत जीवन:

विराट कोहली का जन्म 5 नवम्बर, 1988 को दिल्ली में हुआ था। उनके पिता प्रेम कोहली एक क्रिमिनल वकील थे और उनकी मृत्यु दिसंबर 2006 में हुई थी। उनकी माता सरोज कोहली एक गृहिणी हैं। विराट के दो बड़े भाई-बहन हैं, एक भाई – विकास और एक बहन – भावना।

कोहली ने विशाल भारती स्कूल से अपनी शिक्षा प्राप्त की। उन्होंने नौ साल की उम्र में अपने पहले सेवन के भाग के रूप में पश्चिम दिल्ली क्रिकेट अकादमी में एक स्थान हासिल किया। उन्होंने राजकुमार शर्मा के निर्देशन में अपनी प्रतिभा को निखारा।

कोहली ने 18 दिसंबर 2008 को वेस्टइंडीज के खिलाफ अपना पहला अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच खेला। यह मैच भारत के लिए एक फ़ोरमैन मैच था जो त्रिनिदाद और टोबैगो में खेला गया था।

विराट कोहली के दोहरे शतक: रिकॉर्ड और रहस्यमयी तथ्य
विराट कोहली के दोहरे शतक: रिकॉर्ड और रहस्यमयी तथ्य

क्रिकेट जगत की शुरुआत:

  • मैच में भारत ने टॉस जीता और पहला बैटलमैन बनने का फैसला किया। बटरफ्लाई में 12 वें नंबर पर और 29 बॉल में 10 रन बनाए हुए हैं। भारत ने 20 ओवर में बनाए 134 रन।वेस्ट इंडीज ने 15.1 ओवर में 135 रन बनाकर मैच जीत लिया। कोहली ने एक ओवर फेंक में भी 10 रन बनाए।इस मैच के लिए कोहली का एक शुरुआती बिंदु था। उन्होंने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर में कई सफलताएं हासिल कीं, जिसमें 2011 में भारत की विश्व कप जीत और 2013 में आईसीसी क्रिकेट चैंपियनशिप जीतना शामिल है।

    विराट कोहली के दोहरे शतक: रिकॉर्ड और रहस्यमयी तथ्य

विराट कोहली की बल्लेबाजी शैली:

विराट कोहली एक आक्रामक बल्लेबाज हैं जो अपने स्टॉर्मी बैटल के लिए जाते हैं। वे पारी की शुरुआत से ही नामांकित व्यक्ति पर हावी होने की क्षमता रखते हैं और जल्दी से रन बनाने में कामयाब होते हैं। कोहली की शैली उनकी गति, शक्ति और एकाग्रता के लिए जानी जाती है।

कोहली की विरोध शैली की कुछ विशेषताएं निम्नलिखित हैं:

  • आक्रामकता: कोहली एक आक्रामक बल्लेबाज हैं जो पारी की शुरुआत से ही नक्षत्रों पर कब्ज़ा करने की कोशिश करते हैं। वे जल्दी से रन बनाने के लिए दबाव डाला में माहा खाते हैं।
  • गति: कोहली एक तेज गेंदबाज हैं जो बॉल को जल्दी मारने में सक्षम हैं। वे अक्सर गेंद को मैदान के बाहर रखते हैं।
  • ताकत: कोहली एक मजबूत बल्लेबाज हैं जो बॉल को दूर तक मारने में सक्षम हैं। वे अक्सर गेंदों को चौकों और छक्कों के लिए चुरा लेते हैं।
  • एकाग्रता: कोहली एकाग्र बैटर हैं जो लंबे समय तक रन बनाने में सक्षम हैं। वे अक्सर लंबे समय तक नाटकीय प्रदर्शन और बड़ी पारी खेलने वाले होते हैं।

बच्चे मोबाइल मांगे तो क्या करना चाहिए? कैसे समझाए जाने

विराट कोहली ने बनाए क्रिकेट रिकॉर्ड कैसे बनाए

कोहली ने एक बेहतरीन बल्लेबाज के रूप में अपनी जगह बनाई है और अपनी बल्लेबाजी के दम पर क्रिकेट रिकॉर्ड्स में नए मुकाम हासिल किए हैं।

हीटमैन में अनबीटेन दस्तावेज़:

उन्होंने अनबीटेन डचमैन में हिटमैपर और सबसे ज्यादा रन, शतक और अनोखे शतकों के रिकॉर्ड अपने नाम किये हैं।

सर्वाधिक तेज़ 10,000 रन:

कोहली ने सबसे तेजी से 10,000 रन पूरे किये हैं, जिसमें सचिन तेंदुलकर का पिछला रिकॉर्ड भी खत्म हो गया है।

तीन बल्लेबाजों में नंबर वन बैट्समैन:

कोहली ने एक ही समय में थ्री रोस्टर्स (टेस्ट, फॉरवर्ड, टी-20) में नंबर वन बैट्समैन बनने में सफलता प्राप्त की है, जो एक अनोखी उपलब्धि है।

आस्ट्रेलिया में शतकबनाना:

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ़ सीरीज़ में कोहली ने एक ही टूर्नामेंट में तीन शतक बनाए, जो कि एक अज़ीज़ मंज़िल था।

सबसे तेज 8,000 रन:

कोहली ने सबसे तेजी से 8,000 फ़्लोरिडा रन बनाए, जिसमें उन्होंने अनोखे रिकॉर्ड भी जीते।

सबसे तेज 70 शतक तीन बल्लेबाजों में:

कोहली ने तीन बल्लेबाजों में सबसे तेज 70 शतक बनाए, जो एक अनूठा रिकॉर्ड है।

पहले भारतीय कप्तान जिन्होंने ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज खेली थी:

कोहली ने ऑस्ट्रेलिया में भारतीय कप बनाया

उनके करियर के प्रमुख और ताकतवर दिग्गज

मनीष मल्होत्रा का लहंगा कितने का आता है?

पहला डबल शतक विराट कोहली का:

विराट कोहली के दोहरे शतक: रिकॉर्ड और रहस्यमयी तथ्य
विराट कोहली के दोहरे शतक: रिकॉर्ड और रहस्यमयी तथ्य

21 जुलाई 2016 को वेस्ट इंडीज के सामने जमाई में माइकल ने पहली डबल सेंचूरी बनाई। कोहली ने उसी वर्ष सबसे लंबे समय तक ऑक्सफोर्ड में दो और शतक ठोके थे। इसके बाद, कोहली ने 2017 में थ्री डबल सेंचुरी ह्युरम बनाया। उन्होंने आखिरी डबल सेंचुरी 10 अक्टूबर 2019 को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ बनाई थी

ऑस्ट्रेलिया में स्पेशल शतक:

कुल मिलाकर, कोहली के नाम में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आठ शतक और 10 शतक दर्ज हैं। वास्तव में, किसी एक टीम के खिलाफ उनके आठ शतक सबसे ज्यादा शतक हैं। रांची में 95 टॉयल्स पर 123 मैनचेस्टर की शानदार पारी ऑस्ट्रेलियाई टीम के खिलाफ इस पासपोर्ट में उनकी सर्वश्रेष्ठ पारियों में से एक है। 43 मैचों के बाद म्यूजिक का एवरेज 54.81 और स्कोर 96.34 है।

सचिन को छोड़े गए:

विराट कोहली ने बुधवार को 106 बल्लेबाजों को 100 रन बनाने वाले कोहली के नाम अब तक 80 अंतरराष्ट्रीय शतक बनाने का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। यहाँ भी, वह सभी खण्डों में 100 सैकंडों से केवल 20 से पीछे का रिकॉर्ड रखता है। कोहली को 50 शतक बनाने के लिए 279 पारियां लगी थीं, जबकि 49 शतक बनाने के लिए 452 पारियां लगी थीं।

प्रामाणिक में विराट की विशिष्टता:

विराट कोहली ने अपने बिजनेस में अब तक 290 से ज्यादा रिटेल आउटलेट्स खेले हैं। इस दौरान उन्होंने 278 पारियों में 58.44 के बैटल औसत और 93.54 के स्ट्राइक रेट से 13677 रन बनाये हैं। उनके रिकॉर्ड में 49 शतक और 71 शतक दर्ज हैं।

विश्व कप में उनका शानदार प्रदर्शनः

विश्व कप 2023 में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी: सर्वाधिक व्यक्तिगत कप रन बनाने वाले खिलाड़ियों की पूरी सूची भारत के विराट कोहली ने विश्व क्रिकेट 2023 में नौ मैचों में 594 रन के साथ सबसे अधिक रन बनाए हैं। विश्व कप में सर्वाधिक रन बनाने वाले टूर्नामेंट के बारे में जानें।

Isha Ambani:-ईशा अंबानी की शादी का लहंगा किसने डिजाइन किया था

टेस्ट मैच में दिग्गजों की शानदार कहानियां:

इस बीच 8479 रन बने हैं. कोहली के पास 28 सेंचुरी और 28 से अधिक प्लाट हैं। वे 7 दिग्गज शतक भी लगाए हुए हैं. कोहली टेस्ट में सबसे बड़ी शतकीय संपत्ति के मामले में चौथे स्थान पर हैं

विराट कोहली के बोल्ट शतकों का आर्थिक प्रभाव:

  • मार्केटिंग एवं प्रायोजन:

विराट कोहली के बोल्ट ने उन्हें एक व्यक्तिगत ब्रांड और उनके प्रायोजकों के लिए एक बड़ा स्टार बना दिया है। इससे उनकी मार्केटिंग और अन्य फाइनेंशियल को फायदा हुआ।

  • मैच और सीरीज के अंतर्राष्ट्रीय अधिकारिता:

उनके शतकों के कारण, भारतीय टीम ने अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रवेश किया और उनके नेतृत्व कौशल की बढ़त से टीम को अधिक आत्म-विश्वास मिला। यह अलग-अलग सीरीज और टूर्नामेंट्स में जगह बनाने में मदद करता है, जिससे टीम की हिस्सेदारी बनी रहती है और इससे आर्थिक फायदा होता है।

  • क्रिकेट इंडस्ट्री में बढ़ोतरी:

विराट कोहली के दिग्गजों के साथ, क्रिकेट उद्योग में दिलचस्पी है और मैचों की उच्च गुणवत्ता और दर्शकों की संख्या ने उद्योग को आर्थिक रूप से प्रेरित किया है।

  • भारतीय टीम की नेतृत्व क्षमता:

उनके नेतृत्व कौशल ने भारतीय क्रिकेट टीम को नई उचाईयों तक पहुंचाया, और इससे टीम की नेतृत्व क्षमता में वृद्धि हुई है। यह

2 thoughts on “विराट कोहली के दोहरे शतक:- रिकॉर्ड और रहस्यमयी तथ्य”

Leave a Comment

बाबा नीम करोली: क्या वे वास्तव में हनुमान जी का अवतार थे? जाने भारत का सबसे महंगा होटल कौन सा है? घनी दाढ़ी बढ़ाने के लिए क्या करें? किडनी खराब होने लक्षण और संकेत Kagney Linn Karter : Adult फिल्म स्टार का 36 साल की उम्र में आत्महत्या से निधन Climber Rose Plant : गुलाब का पौधा लगाना,बीज से लेकर खिलने तक Disha Parmar Age: राहुल वैद्य और दिशा परमार ने बेटी संग दिखाई पहली फैमिली फोटो Vikrant Massey : विक्रांत मैसी और शीतल ठाकुर ने मनाई दूसरी सालगिरह दुनिया की पहली उड़ने वाली बाइक Riteish Deshmukh Movies : रितेश देशमुख शिवाजी महाराज बायोपिक का नेतृत्व करेंगे Holi:-2024 में होली कितने मार्च को है? मोनी रॉय की मनमोहक ब्लैक वेलवेट गाउन Anjana Bhowmick: दिग्गज अभिनेत्री अंजना भौमिक का निधन आयशा की प्लास्टिक सर्जरी पर उठने वाले सवालों का जवाब होलिका दहन की कहानी क्या है? Kavita Choudhary :’ललिताजी’, पुरालेख उड़ान अभिनेत्री कविता चौधरी का 67 वर्ष आयु में निधन दुनिया का पहला फोल्डिंग माइक्रो एलईडी टीवी हुआ लॉन्च, जानिए इसकी खासियतें मशरूम की सब्जी हिंदी में प्रकार देखे यहाँ मनुष्य की आंखों के आंसू में क्या पाया जाता है? सारा तेंदुलकर की वैलेंटाइन डे पोस्ट देखकर आप भी फैन हो जाएंगे